Osho World Online Hindi Magazine :: March 2012
www.oshoworld.com
ओशो दर्शन
गुरु का आदेश: शिष्य का रूपांतरण

साधक को तो आदेश का पालन कर लेना चाहिए। वह तो रूपांतरित होगा ही, चाहे आदेश करुणा से दिया गया हो और चाहे आदेश हिंसक भाव से दिया गया हो...

उपवास और अनशन में भेद

और उपवास को फास्टिंग मत कहो, अनशन मत कहो; उपवास को कहो आत्मा के निकट होना।

जैसी महावीर के पास सुंदर काया है। जितना सुंदर स्वस्थ शरीर महावीर के पास है...

प्रेम ही सृजन का स्रोत है

शब्द की राख के पीछे जो जीवित आग छिपी है, उसे ही जानना है। वह आग प्रेम की है। और प्रेम सृजन है। अप्रेम को मैंने विध्वंस कहा है, प्रेम को सृजन कहता हूं...

बुद्ध और महावीर, दोनों पूर्ण अहिंसक

आचरण को साध कर कोई अहिंसक नहीं हो सकता, लेकिन अहिंसक हो जाए तो आचरण में अनिवार्य रूपांतरण होगा।

प्रश्न: आपने कहा कि बाह्य आचरण से सब हिंसक हैं। इसके साथ-साथ आपने कहा...

अहिंसा एक अनुभव है, सिद्धांत नहीं

अनुभव मिले तो आचरण आता है, लेकिन आचरण बना लेने से अनुभव नहीं आता। अनुभव हो भीतर तो आचरण बदलता है, रूपांतरित होता है। लेकिन आचरण को कोई बदल ले तो अभिनय से ज्यादा नहीं हो पाता...

ध्यान-विधि

बॉर्न अगेन

यह स्मरण रहे: अपना बचपन फिर से प्राप्त करो। बचपन को लौटा लाने की अभीप्सा सभी करते हैं, लेकिन उसे पाने के लिए करता कोई कुछ भी नहीं। अभीप्सा सभी करते हैं! लोग कहे चले जाते हैं कि बचपन तो स्वर्ग था, और कवि बचपन के सौंदर्य पर कविताएं लिखे...

 ओशो कथा-सागर

राज्य की मुहर!

कोई डेढ़ हजार वर्ष पहले चीन के सम्राट ने सारे राज्य के चित्रकारों को खबर की कि वह राज्य की मुहर बनाना चाहता है। मुहर पर एक बांग देता हुआ, बोलता हुआ मुर्गा, उसका चित्र बनाना चाहता है। जो चित्रकार सबसे जीवंत चित्र बनाकर ला सकेगा, वह पुरस्कृत भी होगा...

जीवन का रूपांतरण

Ma Anand Sahjoओशो ने मुझे जीना सिखाया - मा आनंद सहजो

जीवन में ऐसी कुछ घटनाएं घट जाती हैं जिनके साथ हम जीवन भर के लिए जुड़ जाते हैं। और ऐसे संस्मरणों को सुनाना और बताना अपने आप में एक आनंद का स्रोत बन जाता है। ओशो वर्ल्ड की हिंदी पत्रिका में ‘ओशो ने मेरा जीवन कैसे रूपांतरित किया’, स्तंभ को देख ‘मा आनन्द सहजो’ को अपने बीते दिनों की याद ताज़ा हो गई...

ओशो का ओशनिक साहित्य

ओशो: ध्यान और उत्सव के ओजस्वी ऋषि

इस नव-प्रकाशित पुस्तक के लेखक हैं स्वामी सत्य वेदांत (डॉ. वसंत जोशी)। यह पुस्तक हिंदी भाषा में प्रकाशित हुई है जिसे डायमंड पॉकेट बुक्स ने प्रकाशित किया है। संबुद्ध रहस्यदर्शी की जीवन गाथा पर आधारित यह पुस्तक अंग्रेज़ी में 2 वर्ष पूर्व ( ओशो: दि लूमिनस रेबॅल के नाम से) प्रकाशित हो चुकी है...

रहस्यदर्शियों पर ओशो

महावीर

महावीर पर इतने दिनों तक बात करनी अत्यंत आनंदपूर्ण थी। यह ऐसे ही था, जैसे मैं अपने संबंध में ही बात कर रहा हूं। पराए के संबंध में बात की भी नहीं जा सकती। दूसरे के संबंध में कुछ कहा भी कैसे जा सकता है? अपने संबंध में ही सत्य हुआ जा सकता है। और महावीर पर इस भांति मैंने बात नहीं की, जैसे वे कोई दूसरे और पराए हैं। जैसे हम अपने आंतरिक जीवन के संबंध में ही बात कर रहे...

ओशोधाम-आगामी ध्यान शिविर

नो माइंड ग्रुप
13 से 19 अप्रैल, 2012 तक
संचालन - स्वामी शिव भारती और मा योग मधु
स्थान - ओशोधाम, नई दिल्ली
फोन - 011-25319026, 25319027

 ओशो वर्ल्ड विशेष रिपोर्ट

ओशो संबोधि दिवस महोत्सव

ओशो संबोधि दिवस महोत्सव के अवसर पर ओशो वर्ल्ड गैलेरिया में गत् माह 15 मार्च की संध्या भजन का कार्यक्रम हुआ। 

प्रोग्राम की शुरुआत शाम 6 बजे ओशो के समक्ष दीप जलाकर हुई। साथ-ही ओशो के ऑडियो प्रवचन हुए।

इसके बाद सुश्री रश्मि अग्रवाल ने अपने भजनों की प्रस्तुति दी। उन्होंने कबीर वाणी तथा अन्य सूफी भजनों को गाया। सभी ने पूरे कार्यक्रम को सराहा और भरपूर आनंद लिया।

स्वास्थ्य

समत्व-योग

समत्व-योग की और एक दिशा का विवेचन कृष्ण कहते हैं। कहते हैं वे, अति--चाहे निद्रा में, चाहे भोजन में, चाहे जागरण...

गतिविधियाँ

मलेशिया

10 से 12 फरवरी को चिन स्वी बुद्ध टेंपल में ओशो निओ-विपस्सना रिट्रीट ग्रुप आयोजित किया गया। ध्यान-ग्रुप में अनेक ओशो-प्रेमियों का आगमन हुआ। सभी ने विपस्सना ध्यान के प्रयोगों से गुजरकर स्वयं को जाना। तीन दिवसीय ध्यान-ग्रुप का संचालन स्वामी चैतन्य कीर्ति ने किया।

द्वारका, गुजरात

28 जनवरी से 1 फरवरी पांच दिवसीय मौन सत्र का एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम हुआ...

हास्य-ध्यान

ढब्बू जी अपने मित्र चंदूलाल से कह रहे थे कि विवाह मैं इसलिए नहीं करना चाहता, क्योंकि मुझे स्त्रियों से बहुत डर लगता है।

चंदूलाल ने उसे समझाया और कहा, यह बात है तब तो तुरंत विवाह कर डालो। मैं तुम्हें अनुभव से कहता हूं, क्योंकि विवाह के बाद एक ही स्त्री का भय रह जाता है।

www.oshoworld.com
Osho World Online Hindi Magazine :: April 2012
 
         
 
पुराने अंक: दिसम्बर 2011 | जनवरी 2012 | फरवरी 2012 | मार्च 2012
English Archive
2012 2011 2010 2009 2008 2007 2006 2005 2004 2003 2002 2001